उर्जा किसे कहते हैं? : परिभाषा, प्रकार, उदाहरण

उर्जा किसे कहते हैं? : परिभाषा , प्रकार , उदाहरण

उर्जा किसे कहते हैं?

परिभाषा: किसी वस्तु, मशीन, मनुष्य अथवा किसी अन्य जीव द्वारा कार्य करने की क्षमता को ऊर्जा (Energy) कहते हैं। कार्य के समान ऊर्जा का मात्रक भी जूल है। ऊर्जा एक अदिश राशि है। ऊर्जा का SI पद्धति में मात्रक जूल है।

उर्जा के प्रकार

ऊर्जा विभिन्न वस्तुओं में पायी जाती है इसलिए ऊर्जा के विभिन्न स्वरूप हैं :-

  1. यांत्रिक ऊर्जा (Mechanical Energy)
  2. रासायनिक ऊर्जा (Chemical Energy)
  3. विद्युत ऊर्जा (Electrical Energy)
  4. नाभिकीय ऊर्जा (Nuclear Energy)
  5. ऊष्मीय ऊर्जा (Thermal Energy) आदि।

ऊर्जा के विभिन्न स्वरूपों को समग्र रूप से दो वर्गों में विभाजित किया जाता है :-

  1. गतिज ऊर्जा
  2. स्थितिज ऊर्जा

1. गतिज ऊर्जा किसे कहते हैं?

किसी वस्तु में उसकी या स्वयं की गति के कारण उत्पन्न होने वाली ऊर्जा को गतिज ऊर्जा (Kinetic energy) कहते हैं।

गतिज ऊर्जा का सूत्र,

गतिज ऊर्जा (KE) = 1/2mV2

गतिज ऊर्जा के उदाहरण –

यह निम्न प्रकार से हैं-

  • चलती हवा में गतिज ऊर्जा विद्यमान होती है।
  • घूमते पहिए में गतिज ऊर्जा विद्यमान होती है।
  • बहते जल में गतिज ऊर्जा विद्यमान होती है।
  • दौड़ती वाष्प में गतिज ऊर्जा विद्यमान होती है।
  • चलती रेलगाड़ी में गतिज ऊर्जा विद्यमान होती है।

2. स्थितिज ऊर्जा किसे कहते हैं?

किसी वस्तु में अपनी स्थित के कारण उत्पन्न ऊर्जा को स्थितिज ऊर्जा (Potential energy) कहते हैं।

स्थितिज ऊर्जा का सूत्र,

स्थितिज ऊर्जा (PE) = mgh

स्थितिज ऊर्जा के उदाहरण –

यह निम्न प्रकार से हैं-

  • घड़ी में लिपटी हुई स्प्रिंग में स्थितिज ऊर्जा विद्यमान होती है।
  • जमीन से उंचाई पर स्थित जल में स्थितिज ऊर्जा विद्यमान होती है।
  • ओवरहेड टंकी में दबाई गई गैस में स्थितिज ऊर्जा विद्यमान होती है।
  • किसी भी ऊंचाई पर रखी वस्तु में स्थितिज ऊर्जा विद्यमान होती है।

Leave a Comment