कुचालक किसे कहते हैं? परिभाषा, प्रकार, विशेषताएं

कुचालक किसे कहते हैं?

परिभाषा :- कुचालक वे पदार्थ हैं जो तत्व के एक कण से दूसरे कण में इलेक्ट्रॉनों के मुक्त प्रवाह में बाधा डालते हैं। यदि हम किसी भी बिंदु पर ऐसे तत्व को कुछ मात्रा में चार्ज करते हैं, तो चार्ज प्रारंभिक स्थान पर रहता है और सतह पर वितरित नहीं होता है।

कुचालक के प्रकार :-

कुचालक कौन निम्न प्रकार से बांटा गया है।

  • ठोस कुचालक
  • नरम कुचालक
  • तरल कुचालक

1. ठोस कुचालक = ठोस कुचालक वजन में बहुत भारी तथा बहुत अधिक मजबूत होते हैं। वह ठोस कुचालक कहलाते हैं। इन्हें मजबूत कुचालक की श्रेणी में रखा जाता है। जैसे – कांच, मार्बल इत्यादि।

2. नरम कुचालक = नरम कुचालक ऐसे कुचालक होते हैं जिनका वजन तो ठोस चालकों की अपेक्षा कम होता है। तथा यह मजबूत न होकर मुलायम प्रकृति कहते हैं। नरम कुचालक कहलाते हैं जैसे – प्लास्टिक, रबड़ इत्यादि।

3. तरल कुचालक = तरल कुचालक ऐसे कुचालक होते हैं जिनमें बहने का गुण पाया जाता है अर्थात वे तरल अवस्था में होते हैं। जैसे – तेल, वार्निश इत्यादि।

कुचालक की विशेषताएं :-

  • एक कुचालक में, वैलेंस इलेक्ट्रॉनों को कसकर एक साथ रखा जाता है। उनके पास बिजली का संचालन करने के लिए मुक्त इलेक्ट्रॉन नहीं होते हैं।
  • किसी पदार्थ की विद्युत धारा को अपने में से गुजरने नहीं देने की क्षमता को विद्युत प्रतिरोध कहते हैं। एक इन्सुलेटर का प्रति यूनिट क्रॉस-सेक्शनल क्षेत्र प्रति यूनिट लंबाई के प्रतिरोध को प्रतिरोधकता कहा जाता है। इंसुलेटर में बहुत अधिक प्रतिरोधकता होती है। उदाहरण के लिए, कांच जैसे इन्सुलेटर का प्रतिरोधकता मान 1012 m जितना ऊंचा होता है। नमी की उपस्थिति में और तापमान में वृद्धि होने पर इन्सुलेटर का प्रतिरोध काफी कम हो जाता है
  • कुचालक में बड़ी ढांकता हुआ ताकत होती है। ढांकता हुआ ताकत अधिकतम विद्युत क्षेत्र है जिसे इन्सुलेटर विद्युत टूटने और विद्युत प्रवाहकीय बनने के बिना सामना कर सकता है।
  • अच्छे कुचालक में उच्च वायु पारगम्यता होती है (सामग्री की क्षमता अपने छिद्रों से हवा को प्रवाहित करने की अनुमति देती है) क्योंकि हवा स्वयं एक इन्सुलेटर है।

कुचालक पदार्थों का गुण :-

  • कुचालक पदार्थों की प्रतिरोधकता बहुत अधिक होता है.
  • मुक्त इलेक्ट्रान न के बराबर होते हैं.
  • बाहरी कक्षा के इलेक्ट्रान बहुत अधिक आकर्षण बल से बंधे होते हैं.

Leave a Comment